Motivational Story in Hindi | रुला देने बाली कहानी

 

Motivational Story in Hindi

 
Motivational Story in Hindi एक Real Life से जुड़ी सच्चाई है। ये सिर्फ एक कहानी नही है , याद रखना जीबन मे हम जो दूसरो को देते  है बही हमे वापस मिलता है ।
Reality to Day : बच्चे विदेशो मे ऊचे पदो पर है और मातापिता अपना बुढ़ापा एक दूसरे के सहारे काट रहे है ।

Motivational Story in Hindi For Life

 

एक कमजोर बूढ़ा व्यक्ति अपने बेटे बहू और 4 साल के पोते के साथ रहता थाबूढ़े व्यक्ति के हाथ कांपते थे, उसकी नजर ढूंढली थी, और क़दम लड़खड़ाते थेपरिवार मेज पर साथ बैठकर खाना खाता था कांपते हाथों और कमजोर नजर के कारण खाना मुश्किल होता थाउनके चम्मच से मटर के दाने फर्श पर लड़के जाते थे जब बह  पकड़ते थे, तो  दूध मेजपोश पर बिखर जाता था

बेटा और बहू इस गंदी से बहुत झुंझलाते थे। बेटे ने कहा हमें बुढऊके बारे में कुछ करना चाहिएबहू ने कहा मैं उनके दूध गिरने पर, खाने और फर्श पर खाना गिरानेसे तंग आ गई हूँ। पति पत्नी ने दूसरे कोने में एक छोटी मेज लगा दी हैदादा वहां अकेले बैठकर खाते थे, दादा से 1-2 तश्तरीया टूट गई थी, इसलिए उनका खाना लकड़ी के कटोरे में परोसा जाता थाकभीकभी अकेले बैठे हुये उनकी आंखों से आंसू छलक पड़ते थे4 साल का नन्हा पोता चुपचाप यह सब देखता था
एक शाम, खाने के पहले, पिता ने अपने बेटे को फर्श पर लकड़ी के टुकड़ों से खेलते देखाउसने बड़े मीठे स्वर में बच्चे से पूछा, “तुम क्या बना रहे हो ?” बच्चे ने उतनी ही मीठी आवाज में जवाब दिया, “ओह, मैं लकड़ी का कटोरा बना रहा हूंजब मैं बड़ा हो जाऊंगा, तो आपको और मम्मी इसी में खाना दूंगा। बच्चा मुस्कुरा कर काम करने लग गया यह शब्द मां बाप को ऐसे चूभेकी भी हक्केबक्के रह गए। उनके गालों पर आंसू छलकनेलगे कुछ कहा नहीं, लेकिन दोनों जानते थे कि क्या करना है
उस शाम बेटे ने पिता का हाथ पकड़ा और वे धीरे से वापस परिवार की डाइनिंग टेबल पर आ गए। अपनी बाकी उम्र भर वह अपने परिवार के साथ ही खाते रहे और अब जब उनसे कोई चम्मच गिर जाता था, दूध का गिलास लुढ़क पढ़ता था या मेजपोश गंदा हो जाता था, तो बेटा और बहू उस ओर ध्यान नहीं देती थी।
 
नोट – अगर आप चाहते हो कि आपके बच्चे आपका ख्याल रखे, तो आज से अभी से अपने माता-पिता का ख्याल रखिए । 
 
Motivational Story in Hindi जैसी अन्य पोस्ट पाना चाहते है तो हमारे Facebook Page और Facebook Group से जुडे। 
ये पढ़ना ना भूलें : ~

Related posts

Leave a Comment